News

नैनीताल: पेयजल टैंक में मरे मिले 14 बंदर, 12 हजार की आबादी लगातार पी रही थी पानी, बदबूबार पानी पीने पर पता चला

Spread the love

नवीन समाचार, कालाढुंगी, 28 अप्रैल 2023। निकटवर्ती कोटाबाग की चार ग्राम पंचायतों के 15 तोकों में रहने वाले करीब 12 हजार लोगों को पीने के लिए आपूर्ति किए जा रहे पानी के टैंक में 14 बंदर मरे हुए मिले। इससे हड़कंप मच गया है। ग्रामीणों में भी विभाग के प्रति जबर्दस्त नाराजगी है। पता चलने पर टैंक की सफाई करा दी गई है। इधर, प्रशासन ने मामले में जांच बैठा दी है।

Assam: 13 monkeys found dead in water tank in Cachar, locals suspect  poisoning
प्रतीकात्मक चित्र

प्राप्त जानकारी के अनुसार बजूनियाहल्दू पेयजल योजना से बजूनियाहल्दू, मूसाबंगर व पतलिया आदि गांवों की 12 हजार की आबादी को बौर नदी से आने वाले पानी से पेयजल की आपूर्ति की जाती है। इधर दो दिन पूर्व घरों में बदबूदार पानी आने पर ग्रामीणों ने फिल्टर प्लांट में जाकर देखा तो वहां 14 बंदर टैंक में डूबे हुए थे।

इस पर ग्रामीणों ने जल संस्थान के अधिकारियों को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने मरे हुए बंदरों को टैंक से निकाला। उसके बाद पानी निकालकर टैंक की सफाई कराई। बताया जा रहा है कि इस योजना को जल संस्थान चला रहा है या जल निगम, यह अभी साफ नहीं है। अलबत्ता वन विभाग के कालाढूंगी रेंज के रेंजर मुकेश जोशी ने बताया कि पंचनामा भरकर बंदरों के शव दफना दिए गए हैं। वन विभाग अपने स्तर से मामले की जांच भी कराएगा।

क्षेत्रीय विधायक बंशीधर भगत ने बताया कि पेयजल टैंक नया बनाया गया है, उसका निर्माण कार्य अभी पूरा नहीं हुआ है। इसके कारण वह खुला हुआ था। इस कारण ही उसमें बंदर गिर गए थे। सूचना मिलते ही टैंक की अच्छी तरह सफाई कराकर उसे सुखाया गया। जल निगम के अधिकारियों को इस पर तत्काल जाल लगाकर बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। मामला संज्ञान में आने के बाद जिले की प्रभारी मंत्री रेखा आर्य ने डीएम से मामले में कार्रवाई करने को कहा है।

यह भी पढ़ें :

(Tags : Nainital: 14 monkeys found dead in drinking water tank, a population of 12 thousand was drinking water continuously, it was detected after drinking foul water, peyajal taink mein mare mile 14 bandar, 12 hajaar kee aabaadee lagaataar pee rahee thee paanee, badaboobaar paanee peene par pata chala)

Leave a Reply